कोरोना भाइरस

विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
सार्स CoV-2

कोरोना भाइरस (Coronavirus) ढेर मेर कय भाइरस कय समूह होय जवन स्तनधारिन् औ चिरईन् में रोग पैदा करत है । यन्हरे आरएनए भाइरस होयँ। यन्हरे मनइन में सास नली अव फेफड़ा में संक्रमण पैदा कइ सकत हैं जवने कै नाते साधारण सर्दी बोखार से लइकै सास फुलेक समस्या अव मौत भी होइ सकत है । यका रोकै खत्तिर कौनो भैक्सीन (vaccine) या एंटिभाइरल दवाई नाइ बना है । चीन कय वुहान सहर से निकरा २०१९ नोवेल कोरोना भाइरस इही भाइरस कय एक्ठु उदाहरण होय । इ भाइरस कय संक्रमण २०१९-२०२० मे बहुत बडा प्रकोप कय रुप लिहिस । विश्व स्वास्थ संगठन इ भाइरस कय संक्रमण कय नाव कोभिड १९ (COVID 19) धरिस । कवनो भि भाइरस सामान्य माइक्रोस्कोप या खालि आंखि से नाइ देखा लैं । यका देखै खत्तिर इलेक्ट्रोन माइक्रोस्कोप प्रयोग कइ जात है । इलेक्ट्रोन माइक्रोस्कोप मे कोरोना भाइरस कय आकार गोल देखान जवने कै उप्पर चारो वोर खूँटी जइसन स्पाइक है । स्पाइक कै नाते एकरे पिछे चक्र जैसन आकार देखात है ,इहिकै नाते एकर नाव कोराना परा है ।

मनइन में संक्रमण[सम्पादन | स्रोत सम्पादित करैं]

मनइन कै असर करै वाला कोरोना भाइरस कै खोज १९६० मे यूनाइटेड किंगडम में भवा रहा । ओकरे बाद मे सार्स कोरोना भाइरस २००३ में पता लाग,मर्स कोरोना भाइरस २०१२ में अव सार्स कोरोना भाइरस २०१९ में पता लाग । कवनो कवनो कोरोना भाइरस कै संक्रमण से मनइन पे कवनो असर नाइ होत है तो कुछ कोरोना भाइरस जइसै मर्स कोरोना भाइरस (MERS-CoV) से संक्रमण कै मौत दर ३०% है । कोरोना भाइरस कै संक्रमण में सर्दि,खोंखी,बोखार जैसन लच्छ्न देखात है । कोरोना भाइरस निमोनिया औ ब्रोन्काईटिस (Bronchitis) भि कराय सकत है । अबहिन तक ६ मेर कै कोरोना कै प्रजातिन कै पता लाग है जवने मे से एक्ठु कै दुइ उप प्रजाति में बाटे हैं । यह मे से ४ जात अइसन है जवन मनइन मे साधारण सर्दि जइसन लच्छन पैदा करत हैं :

  1. ह्युमन कोरोना भाइरस OC43 (HCoV-OC43), β-CoV
  2. ह्युमन कोरोना भाइरस HKU1 (HCoV-HKU1), β-CoV
  3. ह्युमन कोरोना भाइरस 229E (HCoV-229E), α-CoV
  4. ह्युमन कोरोना भाइरस NL63 (HCoV-NL63), α-CoV

३ जात मनइन मे तगड़ा लच्छन पैदा करा लैं :

  1. मिडिल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम कोरोना भाइरस या मर्स कोरोना भाइरस (MERS-CoV), β-CoV
  2. सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम या सार्स कोरोना भाइरस (SARS-CoV), β-CoV
  3. सार्स कोरोना भाइरस २ (SARS-CoV-2), β-CoV - इहि से कोभिड़ १९ नांव कै बिमारी लागत है जवन २०१९-२०२० मे महामारी कै रुप लिहिस