टीबी

विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
टीबी
Tuberculosis-x-ray-1.jpg
टीबी कय बेरमिहा कय सीना कय एक्सरे
वर्गीकरण औ बहरे कय लिंक
विभागसङ्क्रामक रोग, पल्मोनोलोजी
आइसिडी-१०A15A19
आइसिडी-९ सिएम010018
ओएमआइएम607948
डिजिज-डिबी8515
मेडलाइन प्लस000077 खाँचा:MedlinePlus2
इ-मेडिसिनmed/2324 खाँचा:EMedicine2 खाँचा:EMedicine2
प्यासेन्ट युकेटीबी
एमई-एसएचखाँचा:Mesh2

क्षयरोग या टिबी (ट्युबरक्युलोसिस) विश्व भर फैलल संक्रामक रोग होय। माइकोब्याक्टेरिया नाँव कय बैक्टेरिया कय स्ट्रेन कय नाते इ रोग होत हय लेकिन खास कइकय माइकोब्याक्टेरियम ट्युबरक्युलोसिस नाँव कय ब्याक्टेरिया कय नाते टीबी लागत है। खास कइकय इ फेफड़न मा असर करत़ है लेकिन देहि कय अउर भागन मा भि इ असर कइ सकत हय जइसय आँत औ हड्डी। इ रोग लागल मनइन मा अगर सक्रिय किटाणु हैं तव ओकरे साँस से, छिँकत़ या खोखत़ निकरय वाला छिँटा से इ रोग फइल सकत है। ढेर संक्रमणन मा लक्षन नाइ देख़ा ला ओका ल्याटेन्ट ट्युबरक्युलोसिस कहत़ हैं । करीब दस मा एक्ठु ल्याटेन्ट ट्युबरक्युलोसिस धिरे धिरे सक्रिय रोग बनि सकत़ है। यदि समय मा इलाज ना भवा तव संक्रमित मे से ५०% बेऱमिहन कय टिबी से मौत होइ सकत है।[१] [२]

सन्दर्भ[सम्पादन | स्रोत सम्पादित करैं]

  1. Kumar V, Abbas AK, Fausto N, Mitchell RN (2007). Robbins Basic Pathology (8th संस्करण). Saunders Elsevier. पपृ॰ 516–522. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1-4160-2973-1.सीएस1 रखरखाव: एक से अधिक नाम: authors list (link)
  2. Konstantinos A (2010). "Testing for tuberculosis". Australian Prescriber. 33 (1): 12–18.