निकोलस कोपरनिकस

विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
निकोलस कोपरनिकस

निकोलस कोपरनिकस (Nicolaus Copernicus, पोलिश: Mikołaj Kopernik; 19 फ़रवरी 1473 – 24 मई 1543) पोलिश खगोलशास्त्री अव गणितज्ञ रहें। ओन इ क्रांतिकारी सूत्र दिहे रहे कि पृथ्वी अंतरिक्ष कै केन्द्र मा नाइ है।

निकोलस पहिला युरोपिय खगोलशास्त्री रहें जे पृथ्वी कै ब्रह्माण्ड कै केन्द्र से बहरे मानिन, वन हीलियोसेंट्रिज्म मॉडल कै लागू किहिन। एकरे पहिले पूरा युरोप अरस्तू कै अवधारणा पै विश्वास करत रहा, जवने मा पृथ्वी ब्रह्माण्ड कै केन्द्र रहा औ सूर्ज, तरई अव दूसर पिंड ओकरे चारो ओर चक्कर लगावत हैं।[१]

1530 मा कोपरनिकस कै किताब डी रिवोलूशन्स (De Revolutionibus) छपा जवने मा ओन इ बताइन कि पृथ्वी अपने अक्ष पै घूमि कै एक दिन मा चक्कर पूरा करता है औ एक साल मा सूर्ज कै चक्कर पूरा करत है। कोपरनिकस तरईन् कै स्थिति जानै खर्तिन प्रूटेनिक टेबिल्स कै रचना कीहिन जवन दुसर खगोलविदन् कै बीचे मा बहुत लोकप्रिय भवा।

खगोलशास्त्री होएक साथे ओन गणितज्ञ, चिकित्सक, अनुवादक, कलाकार, न्यायाधीश, गवर्नर, सैनिक नेता औ अर्थशास्त्रो रहें। ओन मुद्रा पै शोध कइ कै ग्रेशम कै मसहूर नियम कै बनाइन, जवने कै अनुसार खराब मुद्रा बढिया मुद्रा कै चलन से बहरे कइ देत है। ओन मुद्रा कै संख्यात्मक सिद्धांत कै फार्मूला दिहिन । कोपरनिकस कै सुझाव कै नाते पोलैंड कै सरकार कै मुद्रा कै स्थायित्व मा सहायता मिला।

योगदान[सम्पादन | स्रोत सम्पादित करैं]

कोपरनिकस कै अन्तरिक्ष कै बारे मा सात नियम दिहिन, जवन ओनकै किताब मा दर्ज है : "[२]

  • कुल खगोलीय पिंड कै कवनो एक निश्चित केन्द्र नाइ है
  • पृथ्वी कै केन्द्र ब्रह्माण्ड कै केन्द्र नाइ होय; इ खाली गुरुत्व या चंद्रमा कै केन्द्र होय
  • कुल गोला (आकाशीय पिंड) सूर्ज कै चारो ओर चक्कर लगावत हैं। इहिकै नाते सूर्ज ब्रह्माण्ड कै केन्द्र होय
  • पृथ्वी कै सूर्ज से दूरी, पृथ्वी कै आसमान कै सीमा से दूरी कै तुलना में बहुत कम है
  • आसमान में हमरे जौन भी गति देखा जात है उ पृथ्वी कै गति कै नाते होत है।
  • जवन भी हमरे सूर्ज कै गति देखा जात है, उ पृथ्वी कै गति होत है
  • जवन भी ग्रहन् कै गति हम्मन कै देखात है, ओकरे पीछे पृथ्वी कै गति जिम्मेदार होत है

विशेष बात इ है कि कोपरनिकस इ निष्कर्ष बिना कवनो मसीन कै प्रयोग किहे निकारिन। ओन घंटन तक नंगा आँखि से अन्तरिक्ष कै निहारैं और गणितीय गणना से इ निष्कर्ष पावैक कोसीस करत रहें। बाद में गैलिलियो जब दूरदर्शी कै आविष्कार किहिन तौ कोपरनिकस कै बातिन कै पुष्टि भवा ।

सन्दर्भ[सम्पादन | स्रोत सम्पादित करैं]

  1. Linton 2004, pp. 39, 119.
  2. Sobel (2011), p. 18.