श्रीमद्भगवद्गीता

विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

श्रीमद्भगवद्‌गीता हिन्दुओं के पवित्रतम ग्रन्थन मा से याक् है। महाभारत के अनुसार कुरुक्षेत्र युद्ध मा श्री कृष्ण गीता का सन्देश अर्जुन का सुनाइन रहैं। यू महाभारत के भीष्मपर्व के अन्तर्गत दिया गवा याक उपनिषद् है। ईमा एकेश्वरवाद, कर्म योग, ज्ञानयोग, भक्ति योग की बहुतै सुन्दर ढंग मा चर्चा किया गवा है। ईमा देह से अतीत आत्मा का निरूपण किया गवा है।