पाकिस्तान

विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

पाकिस्तान एशिया कय एक्ठु देश होय । एकर राजधानी इस्लामाबाद होय । 20 करोड़ कय आबादी कय साथे इ दुनिया कय छंठवा ढेर आबादी वाला देश होय । हियाँ कय प्रमुख भाषा उर्दू, पंजाबी, सिंधी, बलूची औ पश्तो हिन्दी होय। पाकिस्तान कय राजधानी इस्लामाबाद औ अउर बडा़ नगर कराची औ लाहौर रावलपिंडी होय।पाकिस्तान कय चार सूबा हैं: पंजाब, सिंध, बलोचिस्तान औ ख़ैबर​-पख़्तूनख़्वा। क़बाइली इलाका औ इस्लामाबाद भी पाकिस्तान मा शामिल हैं। इन कय अलावा पाक अधिकृत कश्मीर (तथाकथित आज़ाद कश्मीर) औ  गिलगित-बल्तिस्तान कय भी पाकिस्तान नियंत्रित करत़ है हालाँकि भारत भी एका आपन भाग मानत है। पाकिस्तान कय जनम सन् 1947 मा भारत कय विभाजन पे भवा रहा । सबसे पहिले सन् 1930 मा कवि (शायर) मुहम्मद इक़बाल  दुइ देस कय सिद्धान्त कय जीकिर किहे रहें । ओन भारत कय उत्तर-पच्छु मा सिंध, बलूचिस्तान, पंजाब औ अफ़गान (सूबा-ए-सरहद) कय मिलाइकै एक्ठु नँवा देस बनावेकै कीहे रहें । सन् 1933 मा कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय कय छात्र चौधरी रहमत अली  पंजाब, सिन्ध, कश्मीर औ बलोचिस्तान कय मनइन खर्तीन पाक्स्तान (जवन बाद मा पाकिस्तान बना) शब्द कय बनाये रहें। सन् 1947 से 1970 तक पाकिस्तान दुई भागन मा बंटा रहा - पूरुब पाकिस्तान औ पच्छु पाकिस्तान। दिसम्बर, सन् 1971 मा भारत कय साथे भवा लड़ाई कय बाद पूरुब पाकिस्तान बांग्लादेश बना औ पच्छु पाकिस्तान पाकिस्तान रहि गै ।

नाँव[सम्पादन | स्रोत सम्पादित करैं]

पाकिस्तान शब्द कय जनम सन् 1933 मा कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय कय छात्र चौधरी रहमत अली  पाक्स्तान कय रूप मा करें रहें ।

इतिहास[सम्पादन | स्रोत सम्पादित करैं]

आज कय पाकिस्तान कय जमिन कय मानवीय इतिहास कम से कम 5000 साल पुरान है,लेकिन पाकिस्तान शब्द कय जनम सन् 1933 मा कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय कय छात्र चौधरी रहमत अली से भवा रहा। आज कय पाकिस्तानी जमिन कयु संस्कृतिन कय गवाह है। ईसापहिले 3300-1800 कय बीच हिँया सिन्धुघाटी सभ्यता कय विकास भवा। हिँया विश्व कय चार पुरान ताम्र-कांस्यकालीन सभ्यतन में से एक रहा।यकर जमिन  सिन्धु नदी कय किनारे बसा रहा लेकिन गुजरात (भारत) औ राजस्थान मा भी इ सभ्यता कय अवशेष मिला । मोहेन्जो-दारो, हड़प्पा जइसन जगह पाकिस्तान मा इ सभ्यता कय प्रमुख अवशेष-जगह होँय। इ सभ्यता कय मनइलोग के रहें एकरे बारे मा विद्वानन मा मतभेद है। केहु एका आर्यन कय पूरान शाखा कहत हैं तो केहु द्रविड़। केहु एका बलोची भी ठहरवत हैं। इ मतभेद कय एक कारण सिन्धु-घाटी सभ्यता कय लिपि ना पढि पाइब होय।

अइसन मानि जात है कि 1500 ईसापहिले कय आसपास आर्यन कय आगमन पाकिस्तान कय उत्तरी जगहन कय राहि से भारत मा भवा । आर्यन कय निवास जगह स्पियन सागर कय पूरूब औ उत्तरी हिस्सन कय मानि जात है जहाँ से वे इ समय कय करीब ईरान, यूरोप औ भारत कय ओर चलि गा रहें। सन् 543 ईसापूरूब मा पाकिस्तान कय ढेर इलाका ईरान (फारस) कय हख़ामनी साम्राज्य कय तरे आइ गवा। लेकिन उ समय इस्लाम कय उदय नाइ भवा रहा; ईरान कय मनइ ज़रदोश्त कय चेला रहें औ देवतन कय पूजा करत रहें। सन् 330 ईसापूरूब मा मकदूनिया (यूनान) कय विजेता सिकन्दर  दारा तीसरा कय तीन दाई हराइकै हखामनी वंश कय खत़म कइ दिहिस। इहिकै नाते मिस्र से पाकिस्तान तक फइला हखामनी साम्राज्य कय पतन होइ गवा औ सिकन्दर पंजाब तक आइ गै। ग्रीक स्रोतन कय मुताबिक ऊ सिन्धु नदी कय किनारे पै भारतीय राजा पुरु (ग्रीक - पोरस) कय हरा दिहिस। लेकिन ओकर सेना आगे बढ़ेस इनकार कइ दिहिस औ ऊ भारत मा हले बिना वापिस लौटि गवा।ओकरे बाद उत्तरी पाकिस्तान औ अफगानिस्तान मा यूनानी-बैक्ट्रियन सभ्यता कय विकास भवा। सिकन्दर कय साम्राज्य कय ओकर सेनापति आपस मा बाँट लिहिन। सेल्युकस नेक्टर सिकन्दर कय सबसे शक्तिशाली उत्तराधिकारिन में से एक रहा।

मौर्य 300 ईसापूर्व कय आसपास पाकिस्तान कय अपने साम्राज्य कय तरे कई लिहीन ।एकरे बाद फिरसे ई ग्रीको-बैक्ट्रियन शासन मा चलि गवा । इ शासकन मा सबसे प्रमुख मिनांदर बौद्ध धर्म कय बढाइस । पार्थियन कय पतन कय बाद ई फारसी प्रभाव से मुक्त होइ गवा । सिन्ध कय राय राजवंश (सन् 489-632) हिँया शासन किहिन।एकरे बाद इ उत्तर भारत कय गुप्त औ फारस कय सासानी साम्राज्य कय बीचे बँटा रहि गै।

सन् 712 मा फारस कय सेनापति मुहम्मद बिन क़ासिम सिन्ध कय राजा कय हरा दिहिस। इ फारसी जीत ना होइकै इस्लाम कय जीत रहा। बिन कासिम एक्ठु अरब रहा औ पूरुबी ईरान मा अरबन कय आबादी औ नियंत्रण बढ़त जात रहा । लेकिन इ समय केन्द्रीय ईरान मा अरबन कय प्रति घृणा औ इर्षा बढ़त जात रहा लेकिन इ क्षेत्र मा अरबन कय सत्ता जमा गा रहा । एकरे बाद पाकिस्तान कय क्षेत्र इस्लाम से प्रभावित होत चला गै। पाकिस्तानी सरकार कय अनुसार इ समय 'पाकिस्तान कय नेइ' डारि गा रहा । 1192 मा दिल्ली कय सुल्तान पृथ्वीराज चौहान कय हरावैक बाद मा दिल्ली कय सत्ता पे फारस से आवल तुर्क, अरब और फारसिन कय नियंत्रण होइ गवा । पाकिस्तान दिल्ली सल्तनत कय अंग बनि गवा।

सोरहवा सदी मा मध्य-एशिया से भागि कय आवल बाबर  दिल्ली कय सत्ता पे अधिकार जमाइस औ पाकिस्तान मुगल साम्राज्य कय अंग बनि गवा। मुगल काबुल तक कय जमीन कय आपने साम्राज्य मा मिला लिहिन। अठारहवा सदी कय अन्तिम तक विदेशि (खास कइकय अंग्रेजन) कय प्रभुत्व भारतीय उपमहाद्वीप पे बढ़त गै। सन् 1857 कय गदर कय बाद पूरा भारत अंग्रेजन कय शासन मा आइ गवा।

अंग्रेज़न कय शासन काल मा , ख़ास कई कै पंजाब मा कयू विरोधी आंदोलन भवा। इ दौरान पंजाब औ सिंध मा अच्छा ख़ासा हिंदू आबादी रहा। लेकिन जनतंत्र कय मांग कय लइकै औ मुसलमानन कय अल्पमत मा होएक नाते अलग मुस्लिम राष्ट्र कय मांग होए लाग। पहिले सन् 1930 मा शायर मुहम्मद इक़बाल भारत कय उत्तर-पच्छु चार प्रान्त -सिन्ध, बलूचिस्तान, पंजाब औ अफ़गान (सूबा-ए-सरहद)- कय मिलाइकै एक्ठु अलग राष्ट्र कय मांग कीहे रहें । 1947 अगस्त मा भारत कय विभाजन कय बाद पाकिस्तान कय जनम भवा। उ समय पाकिस्तान मा अबहिन कय पाकिस्तान औ बांग्लादेश दूनो देस एक्कै मा रहें । सन् 1971 मा भारत कय साथ भवा लडाई मा पाकिस्तान कय पूरबी हिस्सा (जवने कय उ समय तक पूरुबी पाकिस्तान कहि जात रहा) बांग्लादेश कय रूप मा स्वतंत्र होइ गवा।

एशिया कय देश

अजरबैजानअफगानिस्तान अफगानिस्तानआर्मेनियाइण्डोनेशियाईराकइजरायलइरानउज्बेकिस्तानउत्तर कोरियाओमानकजाख्स्तानकतारकुवेतकम्बोडियाकिर्गिजस्तानचीनजापानजर्जियाताइवानताजिकिस्तानतुर्कमेनिस्तानटर्कीथाइल्याण्डदक्षिण कोरियानेपाल नेपालपाकिस्तानपूर्वी टिमोरफिलिपिन्सबहराइनबंगलादेश बंगलादेशब्रुनाईभारतभूटानमकाउमलेशियामंगोलियामालदिभ्सम्यानमारयमनजोर्डनरूसलाओसलेवनानभियतनामसंयुक्त अरब इमिरेट्ससाइप्रससाउदी अरबसिंगापुरसीरियाश्रीलंकाहङकङ

नोट:१-यूरोप कय देश होय लेकिन एशिया मे गिनी जात है काहे से एकर ढेर जमिन एशिया मे है २.सांसकृतिक अव ऐतिहासिक समानता कय नाते कब्बो कब्बो यूरोप कय देश कही जात है ३.विशेष जमिन

Asia (orthographic projection).svg